ads

IPO के लिए अगस्त बना सुपर मंथ, बैंकों के साथ स्टॉक एक्सचेंज, ब्रोकर्स पर भी बढ़ा दबाव

नई दिल्ली। आइपीओ के लिए अगस्त सुपर मंथ बनकर उभरा है। पहले सप्ताह में जहां चार कंपनियों ने आइपीओ के जरिए 3600 करोड़ रुपए से अधिक जुटाए। वहीं इस हफ्ते दो आइपीओ लॉन्च हो चुके हैं और दो मंगलवार को लॉन्च होंगे। प्राइमरी मार्केट में आई आइपीओ की इस धूम से बैंकिंग व्यवस्था दबाव में है।

यह भी पढ़ें : पीएनबी सैलरी अकाउंट पर ग्राहकों को दे रहा 23 लाख का फायदा, जानिए क्या हैं सुविधाएं?

इन चारों आइपीओ में 1.7 लाख करोड़ रुपए की पूंजी हासिल हुई और इनमें एक करोड़ से ज्यादा खुदरा निवेशकों ने आवेदन किया। इतनी बड़ी तादाद में आए आवेदन से कई बैंकों को आवेदन की प्रक्रिया पूरी करने में कठिनाई हुई। साथ ही ओटीपी आने में भी विलंब हुआ। इससे बैंकों के साथ स्टॉक एक्सचेंज और ब्रोकर्स भी दबाव में हैं।

इस हफ्ते ये आइपीओ
कारट्रेड के साथ सीमेंट कंपनी नुवोको विस्टास लि. का पब्लिक इश्यू सोमवार को लॉन्च हुआ, जबकि केमिकल्स कंपनी केमप्लास्ट सन्मार और एप्टस हाउसिंग फाइनेंस इंडिया के आइपीओ मंगलवार को लॉन्च होंगे। ये चारों कंपनियां पब्लिक ऑफर के जरिए 14,630 करोड़ रुपए जुटाएंगी।

यह भी पढ़ें : अमेजन ने ग्राहकों को दी सुविधा, ऑनलाइन ऑर्डर कर आसपास की दुकान से ले सकेंगे किराने का सामान

1. कारट्रेड टेक
कारट्रेड टेक का आइपीओ पहले दिन 41 फीसदी सब्सक्राइब हुआ। इसमें 11 अगस्त तक निवेश किया जा सकेगा। इस आइपीओ के जरिए कंपनी 2,999 करोड़ रुपए जुटाने की तैयारी में है। इश्यू प्राइस 1585-1618 रुपए के प्राइस बैंड में तय किया गया है।

2. नुवोको विस्टास
नुवोको विस्टास का आइपीओ पहले दिन केवल 16% सब्सक्राइब हुआ। निवेशक 11 अगस्त तक शेयर खरीदने के लिए आवेदन कर सकेंगे। प्राइस बैंड 560 से 570 रुपए प्रति शेयर तय किया गया है। कंपनी इस आइपीओ के जरिए 5000 करोड़ रुपए जुटाएगी।

3. केमप्लास्ट सन्मार
केमप्लास्ट सन्मार लि. के आइपीओ में 12 अगस्त तक निवेश कर सकेंगे। इसका प्राइस बैंड 530-541 रुपए प्रति शेयर तय किया गया है। कंपनी की योजना 3850 करोड़ रुपए जुटाने की है।

4. एप्टस हाउसिंग फाइनेंस
इसका आइपीओ 12 अगस्त तक खुला रहेगा। कंपनी इसके जरिए 2,780 करोड़ जुटाएगी। आइपीओ के लिए प्राइस बैंड 346-353 रुपए प्रति शेयर तय की गई है।



Source IPO के लिए अगस्त बना सुपर मंथ, बैंकों के साथ स्टॉक एक्सचेंज, ब्रोकर्स पर भी बढ़ा दबाव
https://ift.tt/3AnnmoO

Post a Comment

0 Comments